Thursday, 23 May 2019

दिग्पाल छन्द : Digpal Chhand

 दिग्पाल छन्द : Digpal Chhand 


 यह मात्रिक छन्द है। 
यह  २४  मात्रिक  छन्द  है ।  चार चरण, १२/१२  मात्रा  पर  यति,  चरणान्त       गुरु
 दो - दो  पंक्ति  समतुकान्त,  इस छन्द की मापनी निम्न है- २२१,२१२२,२२१,२१२२

Example : उदाहरण 


दिगपाल छंद का विधान और उदाहरण
Digpal Chhand Ka Vidhan Or Udaharan

No comments:

Post a Comment

Please Comment If You Like This Post.
यदि आपको यह रचना पसन्द है तो कृपया टिप्पणी अवश्य करें ।

DONATE-US

सूचना पटल [ Notice Board ]


Utkarsh Kavitawali Android App


Naari Tukalyani Patrika


Marudhar Ke Swar


अक्षय गौरव जन०-मार्च अंक

Categories

Popular

About Writer

नाम : नवीन शर्मा श्रोत्रिय
उपनाम : उत्कर्ष
पिता : श्री रमेश चंद शर्मा
माता : श्रीमति ललिता शर्मा
जन्म : 10 मई 1991
जन्म स्थान : ग्राम - नरहरपुर,तहसील- वैर,जिला - भरतपुर (राज•) 321408
वर्तमान निवास : उपखण्ड - बयाना,जिला भरतपुर (राजस्थान) 321401
शिक्षा : स्नातकोत्तर (हिंदी)
सीनियर अकाउंटेंट
लेखन : गद्य-पद्य दोनों में (छंद, गीत,गजल,निबंध,कहानी,लघुकथा)
लेखन : लगभग 26 जून 2016 से
उपलब्धि : आपकी रचनाये अलग अलग राज्यो से कई पत्रिकाओं में प्रकाशित,
काव्य मंच : 1. उज्जैन, 2. अपनाघर आश्रम, 3. बयाना

विशिष्ट पोस्ट

Top Romatic Shayari-Muktak

MUKTAK चलाये   बाण    नैनों   के, बना  उनका  निशाना दिल  चढ़ी फिर आशिकी हमपे, लगें  उजड़ी सभी महफ़िल  नहीं  है  और कुछ चाहत, बने   वो  ...

कृपया मेरा अनुशरण करें /Follow This Blog

आपकी पाठक संख्या

Blog Archive

Tags

Labels

Follow by Email

हाल की पोस्ट

पत्र-व्यवहार

Naveen Shrotriya Utkarsh

Shrotriya Mansion Bayana

Rajasthan,Ind. 321401

Personal +918440084006

Cellular +919549899145

OFFICE +918005989635

Mr.Naveenshrotriya@Gmail.com

Mr.Naveenshrotriya@yahoo.com

Mr.NaveenShrotriya@live.com

Contact Form

Name

Email *

Message *